अधिवक्ता हर्ष मेहता के जन्म दिवस पर सर्वे सन्तु सुखिन: का सन्देश दिया हर्ष मेहता मित्र मंडल ने

 



कोरोना से मुक्ति की राह पर चल रहे इंदौर के निवासियों को पहला सन्देश दिया श्री नरेंद्र मोदी जी ने जब होने वैक्सीन के लांच के समय “सर्वे सन्तु निरामया ( सभी निरोगी रहे)” कहा| इसी सन्देश से ओत प्रोत होकर आरोग्य के अगले स्तर यानी “सर्वे सन्तु सुखिन:” का सन्देश चहुँ और गुंजाया भारतीय जनता युवा मोर्चा के प्रदेश कार्यसमिति सदस्य एवं हाईकोर्ट एडवोकेट  हर्ष मेहता ने|



अपने जन्मदिवस के अवसर उन्होंने अयोध्यापति श्री राम की स्तुति में विराट भजन संध्या का आयोजन किया|  एक तरफ भारतीय जनता युवा मोर्चा की ऊर्जा इस भजन संध्या के जोश में रंग भर रही थी तो दूसरी तरफ महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग उज्जैन के गादीपति  विनीतगिरी ने अपनी मधुर और सारगर्भित वाणी में इन युवाओ जो जीवन और भक्ति के नए रंगों से परिचित करवाया|


गीता भवन मंदिर का प्रांगण ढोल और मृदंग की थाप पर नाच उठा जब पहले हर्ष मेहता मित्र मंडल के सदस्यों ने एक विशेष प्रकार के नृत्य में भागीदारी की| इस नृत्य की छटा देखकर आप यूरोपियन देशो के फ़्लैश मोब जैसे नृत्यों को भूल जायेगे, युवाओ की थिरकन में एक तरफ ग्रुप डांस का अनुशासन था तो दूसरी तरह ढोल की लहरियों पर थिरकते उनके कदमो और चेहरे के उल्लास को इस electrifying वातावरण में दूर से ही महसूस किया जा सकता था|


शाम सात बजे से शुरू हुए इस आयोजन में एडवोकेट हर्ष मेहता को जन्म दिवस की बधाई देते हुए, राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त भजन गायक देवेश जैन गणेश वंदना के साथ कार्यक्रम की शुरुआत की और संचालक के तौर पर एक के बाद ख्याति प्राप्त गायकों बुला कर राम भजनों की एक माला ही पिरो दी|  प्रख्यात भजन गायक श्री शशांक तिवारी, कुंदनपुर ने भजनों की इस धारा में अपने सुरों की गंगा बहाई, उनके प्रसिद्ध गीत हमु काका बाबा ना पोरिया  एवं ऊपर कांच को बंगलो” ने तो श्रोताओ को भाव विह्वल ही कर दिया| शास्रीय संगीत के विशेषज्ञ श्री गोपाल शर्मा ने माँ भवानी की स्तुति को राग के रंगों में रच  कर भक्तिरस को आल्हाद की चरम सीमा तक पहुंचा दिया|


उसके बाद पदापर्ण हुआ  महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग उज्जैन के गादीपति  विनीतगिरी  जी का |   जन्मदिवस की पावन संध्या पर उन्होंने अधिवक्ता हर्ष मेहता को आशीर्वचन दिए तथा अपने संक्षिप्त प्रवचन में जीवन का सार सर्वे सन्तु सुखिन के माध्यम से श्रोतागणों के कानो में घोल गए|

कोरोना वायरस की वजह से शहरो के बीच खिंची लकीरों को मिटाते हुए, मुंबई और अन्य शहरो से आये हुए सेलेब्रिटी कलाकारों एवं राजनेताओ के बधाई सन्देश भी एल ई डी स्क्रीन पर चलाये गए| माना जाता है की हर्ष मेहता मित्र मंडल की ओर से ये एक surprize गिफ्ट था जो जन्म दिवस के मौके पर हर्ष जी को मिला| तालियों की ताल और ग्रुप डांसर के थिरकते कदमो को जब मनीष तिवारी जी जोशीली आवाज़ का साथ मिला तो “म्हारा कीर्तन में रस बरसाओ से शुरुआत करके रामजी की निकली सवारी” भजन के साथ मानो राम जी का दरबार ही सजीव हो उठा|


कहते हैं महान  जीवन वो होता है जिसके हर पल में कोई ना कोई सन्देश छिपा हो| शास्त्रीय संगीत, आदिवासी नृत्य, मनमोहक भजन और जीवन का सार समेटे प्रवचन, जन्मदिन की ऐसी  संध्या वाकई में अनुकरणीय है|  अनिकेत कुटुम्बकम के पाठको की ओर से हम हर्ष मेहता जी को जन्म दिन की बधाई देते हैं, साथ उन्हें धन्यवाद भी ज्ञापित करते हैं क्यूंकि उन्होंने संस्कृति की चाशनी में लिपटे इस जीवंत मनोरंजन को हमारे जीवन में स्थान दिया|


इस शाम का आनंद आप इस लघु विडियो में भी उठा सकते हैं जिसे संकलित किया है, सी बी आई न्यूज़ की तकनीकी टीम ने|

https://youtu.be/oqrsOpa_pgA

Post a Comment

Previous Post Next Post