भारत की बात सुनाता हूँ...

 

20 जुलाई २०१२ शाम पौने पांच बजे, टीवी 9 महाराष्ट्र के  न्यूज़ रूम में हलचल मच गयी, जब खबर आई की मुंबई के मोटरमेन स्ट्राइक पर चले गए  हैं और जो लोकल जहाँ खड़ी है वही खडी रह गयी है| देखते ही देखते, हर चैनल पर मोटरमेन स्ट्राइक की खबरे आने लगे, युवा पत्रकार दिमाग दौड़ाने लगे, अब क्या होगा|

इस सब से दूर एक संत उसी न्यूज़ रूम में कानो पर हेडफ़ोन लगाए एक भजन सुनने में मगन था| ये भजन थोड़ी देर बाद एडिटींग रूम में गूंजने लगा जहाँ साधना नाम के प्रोग्राम की एडिटिंग हो रही थी| मैंने उस संत से जा कर पूछा “जनाब मुंबई की नब्ज़ की थम गई है और आप भगवद भक्ति में लीन है, आज शाम को घर कैसे पहुंचना होगा, कुछ सोचा है| कुछ ना बोला, बस अपनी धुन में भजन से धुन मिलाने के बाद मुस्कुराते हुए उस संत ने कहा| पंडित जी परेशान ना हो, साडे सात बजे चर्च गेट स्टेशन पर यूनियन के नेता मीडिया से बात करेंगे| पौने आठ पर वेस्टर्न रेलवे की विज्ञप्ति आएगी और साडे नौ बजे से रेल सेवा फुल स्विंग में होगी|

संत की वाणी सही साबित हुयी, इस संत का नाम है भारत कविरत्न, सत्रह साल से ज्यादा मीडिया के एक्टिव अनुभव से लबरेज़, भारत जी एक बार फिर उठ खड़े हुए हैं, जनता की बात जनता तक पहुँचाने के लिए| आज जब खबर एक ब्रेकिंग न्यूज़ नाम का सर्कस शो बन गयी है| आज जब ज़्यादातर न्यूज़ चैनल नेताओ के खरीदे हुए विज्ञापन स्पॉट्स जैसे नज़र आने लगे हैं, ऐसे में भारत जी लेकर आये हैं ‘भारत की बात”|

हाल ही मैं उन्होंने फेसबुक फ्रॉड से जुडी हुई एक स्टोरी कवर की है जिसे इस लिंक पर देखा जा सकता है|


https://www.facebook.com/100011097377069/videos/1352495385130361/

3 Comments

  1. भारत की बात
    का अभिनदंन , स्वागत, वंदन
    स्वागत है इस मीडिया महफ़िल में
    अपने ओजस्वि आवाज़ के साथ
    हर प्रहर तिरंगे को फहराने में
    देश को जगाने में , इसकी शान को
    सजाने में
    🙏🙏🙏🙏🙏

    ReplyDelete
  2. Great, keep on moving, my best wishes.

    ReplyDelete
Previous Post Next Post